Chandra Grahan 2020: आज कहां-कहां दिखाई देगा यह ग्रहण, जाने भारत पर इसका असर

0
178
Chandra Grahan 2020
Chandra Grahan 2020

नई दिल्ली/ दीक्षा शर्मा। 5 जून, आज साल का दूसरा चंद्रग्रहण लगने जा रहा है. कहा जा रहा है कि इस साल एक नहीं छह ग्रहण लग रहे हैं. इसमें से तीन ग्रहण एक ही महीने में पढ़ रहे हैं. आपको बता दें कि साल 2020 का पहला चंद्रग्रहण 10 जनवरी को लगा था और अब दूसरा चंद्रग्रहण 5 जून यानी आज लगने जा रहा है. जून में ही 21तारीख को सूर्यग्रहण भी लगेगा. खास बात यह है कि यह दोनों चंद्रग्रहण भारत में दिखाई देंगे. यह बात यह है कि यह दोनों चंद्रग्रहण भारत में दिखाई देंगे. यह उपच्छाया चंद्रग्रहण होगा. जिसकी शुरुआत आज रात 11:16 मिनट से हो जाएगी और उसकी समाप्ति 6 जून को 2: 32 मिनट पर होगी. उपच्छाया चंद्रग्रहण बहुत ज्यादा प्रभावशाली नहीं होता, इस दौरान सुकत काल भी मान्य नहीं होता.

केरल गर्भवती हथिनी की मौत के मामले में एक आरोपी गिरफ्तार, पूछताछ जारी

क्या होता है उपछाया ग्रहण?

5 जून(आज) को लगने वाला ग्रहण उपछाया चंद्र ग्रहण है. चंद्र ग्रहण के शुरू होने से पहले चंद्रमा धरती की उपछाया में प्रवेश करता है. जब चंद्रमा पृथ्वी की वास्तविक छाया में प्रवेश किए बिना ही बाहर निकल आता है तो उसे उपछाया ग्रहण कहते हैं. चंद्रमा जब धरती की वास्तविक छाया में प्रवेश करता है, तभी उसे पूर्ण रूप से चंद्रग्रहण माना जाता है. उपछाया ग्रहण को वास्तविक चंद्र ग्रहण नहीं माना जाता है. ज्योतिष में भी उपछाया को ग्रहण का दर्जा नहीं दिया गया है.

कहां-कहां दिखाई देगा यह ग्रहण

यह चंद्रग्रहण भारत समेत एशिया,यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका में दिखाई देगा लेकिन उपच्छाया चंद्रग्रहण होने की वजह से कोई भी धार्मिक कार्य नहीं रोके जाएंगे. इसमें चांद के आकार में कोई भी बदलाव देखने को नहीं मिलेगा सिर्फ चांद थोड़ा सा मटमैला रंग का दिखाई देगा.

नहीं थम रहा भारत में कोरोना संक्रमण, लगातार बढ़ रहें हैं कोरोना के मामले

सूतक नहीं लगेगा

कहा जा रहा है कि ग्रहण का किसी भी तरह का ब्यौरा प्रभाव न पड़ने के कारण सूतक काल नहीं
लगेगा. सूतक काल का समय अशुभ माना जाता है. आपको बता दें कि सूर्यग्रहण में 12 घंटे पहले से सूतक काल शुरू हो जाता है और चंद्रग्रहण के दौरान 9 घंटे पहले आरम्भ हो जाता है.

वृश्चिक राशि वाले रहें सतर्क

यह चंद्रग्रहण वृश्चिक राशि में लगने जा रहा है. जब यह चंद्रग्रहण लगेगा तो यह वृश्चिक राशि में रहेगा. ऐसे भी वृश्चिक राशि के लोग सतर्क रहें और अशुभ प्रभाव से बचने के लिए भगवान का नाम लें.

World Environment Day 2020: आखि़र क्यों बनाया जाता है, जानिए कब हुई इसकी शुरुआत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here