कैसे इन घरेलू उपायों से हम सही कर सकते हैं डाइबिटीज की बीमारी

0
275

नई दिल्ली/आर्ची तिवारी। आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम अपने शरीर का बिल्कुल ख्याल नहीं रख पाते जिसकी वजह से हम आये दिन किसी न किसी बिमारी से ग्रसित रहते हैं. डाइबिटीज एक ऐसी बीमारी है जिससे आज हर दूसरा आदमी बीमार है. तला भुना खाना और अन्य ऐसी चीजें हैं जो शरीर में इस रोग को जन्म दे देती हैं. पर इन सभी चीजों के बावजूद हम अगर इन घरेलू उपायों का प्रयोग करें तो निश्चित तौर पर हम शरीर की डाइबिटीज को कंट्रोल कर सकते हैं. इसके लिए ये कुछ सरल और सहज रूप से मिलने वाले पदार्थों से अपनी डाइबिटीज को ऐसे कर सकते हैं कंट्रोल.

ये भी पढ़ें काढ़ा हमारी इम्यूनिटी बढ़ाता है, लेकिन ज्यादा सेवन किया तो पहुंचा सकता है ये नुकसान

अमरूद

एक अध्ययन के मुताबिक, अमरूद ब्लड शुगर के स्तर को कम करके डायबिटीज का इलाज करने में मददगार होता है. दरअसल, अमरूद अल्फा-ग्लूकोसिडेस नामक एंजाइम के कार्य को कम करता है, जो ब्लड में ग्लूकोज को भोजन में परिवर्तित करता है. इससे ब्लड शुगर लेवल नियंत्रण में रहता है.

करेला

करेले का जूस आपके शरीर में इन्सूलिन को सक्रिय करता है जिससे ब्लड में मौजूद शुगर फैट में नहीं बदल पाता और बॉडी उसका सही इस्तेमाल कर पाती है. शुगर के फैट में न बदलने के कारण वजन कम करने में भी मदद भी मिलती है.

लहसुन

डायबिटीज में लहसुन का रेगुलर सेवन ब्लड शुगर लेवल का सामान्य तक ला सकता है. जी हां, दरअलस लहसुन उन हार्मोन्स को बनाता है जो शरीर में शुगर को नियत्रिंत करते हैं. तो आज से ही अपने खाने में लहसुन को शामिल करें. – लहसुन दिल से संबंधित समस्याओं को भी दूर करता है.

टमाटर

टमाटर जिस तरह व्यक्ति की भूख बढ़ाता है, वैसे ही पाचनतंत्र में सहायक एंजाइम्स को स्त्रावित करता है। इसके अलावा खट्टा होने के कारण मधुमेह रोगियों में रक्त स्तर को नियंत्रित कर रोग से होने वाली कमजोरी को दूर करता है।

ये भी पढ़ें ये लगाइए और सिर्फ 2 घंटे में पिंपल से जड़ से छुटकारा पाइए

भिंडी

भिंडी में प्रोटीन, वसा, फाइबर, कार्बोहाइट्रेड, कैल्शियम, फास्‍फोरस, आयरन, मैग्‍नीशियम और पोटेशियम होते हैं. जो इसे डायबिटीज रोगियों के लिए एक अच्छा आहार बनाते हैं. भिंडी में काफी मात्रा में फाइबर होता है जो पाचन क्रिया दुरूस्त करने में मददगार है. इतना ही नहीं यह आंतो में जमी गंदगी करता है.

जामुन

जिन्हें अधिक पेशाब और प्यास लगती है उन्हें जामुन का सेवन करना चाहिए. इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, जो रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को सामान्य रखने में मददगार है. वृक्ष के बीज, छाल और पत्तियों का उपयोग भी मधुमेह के उपचार के लिए किया जा सकता है.

संतरा

डायबिटीज के मरीजों के लिए संतरा को सुपरफूड माना गया है। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर, विटामिन सी, फोलेट और पोटेशियम होता है जो डायबिटीज में राहत दिलाने का काम करता है। आड़ू फाइबर का भरपूर स्रोत होता है, जो ब्लड शुगर हो नियंत्रित करने में मददगार होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here