रणवीर सिंह नहीं करना चाहते थे ‘खिलजी’ का रोल, संजय लीला भंसाली से हुई थी लड़ाई

0
202

नई दिल्ली/पूजा शर्मा। आपको याद हो तो साल 2018 की सबसे विवादास्पद फिल्म पद्मावत थी. इस फिल्म को लेकर देश में हंगामा भी हुआ था. लेकिन जब फिल्म पर्दे पर उतरी तो उतनी ही बड़ी ब्लॉकबस्टर रही. यहां तक कि लोगों ने इस फिल्म को बड़े ही शोक से देखा था. इस फिल्म में दीपिका पादुकोण ने रानी पद्मावत का किरादर निभाया था और रणवीर सिंह निगेटिव किरदार में नजर आए थे, जिसमें वो अलाउद्दीन खिलजी बने थे. शाहिद कपूर रतन सिंह बने थे. मूवी को डायरेक्ट किया था संजय लीला भंसाली ने, जिन्होंने रणवीर सिंह के साथ इससे पहले 2 और फ़िल्में की थीं.

लगभग दो साल पहले रिलीज़ हुई पद्मावत फिल्म के बारे में हम इसलिए बता रहे हैं क्योंकि इस फिल्म से जुड़ी एक दिलचस्प बात आप सभी नहीं जानते होंगे. आपको बता दें कि रणवीर सिंह पद्मावत फिल्म में ‘खिलजी’ का किरदार नहीं करना चाहते थे और उन्होंने संजय लीला भंसाली को इस किरदार के लिए साफ इंकार कर दिया था.

रणवीर सिंह ने क्यों किया था मना

उनका कहना था कि, इंडिया में जब कोई किसी कैरेक्टर को प्रेम करता है तो वो उस एक्टर को भी प्रेम करने लग जाता है जिसने वो कैरेक्टर प्ले किया है. नफ़रत के बारे में भी ऐसा ही है. रणवीर ने कहा “मुझे पता था कि ये किरदार निभाने के लिए मुझे मानसिक तौर पर घुप्प अंधेरी जगह में घुसना होगा. और वो मेरी ज़िंदगी का ऐसा दौर था कि इसके लिए मैं तैयार नहीं था. दरअसल तब मैं बहुत खुश था. क्यूंकि मेरी दीपिका से शादी होने वाली थी. भंसाली के साथ मेरी लंबी-लंबी बातें हुआ करती थीं. मैंने उनसे कहा कि ये रोल करने से मैं अपने-आप को खो दूंगा. जिसके बाद  संजय लीला भंसाली मुझे समझाते-समझाते पूरी तरह से फ्रस्ट्रेट हो गए थे. वो मुझे हर तरह से समझा कर थक चुके थे. जिसके बाद भंसाली ने कुछ ऐसा कहा कि रणवीर ना नहीं कर सके.”

संजय लीला भंसाली ने रणवीर से क्या कहा

भंसाली ने रणवीर को समझते हुए सभ्य भाषा में कहा “मेरे “बच्चे! क्या तुम ऐसे किरदार को नहीं निभाना चाहोगे, जिसका 75 किलो का जिगरा है?” उसके बाद ये बात रणवीर की ईगो पर लग गई और रणवीर ने ये रोल करने के लिए हां कर दिया.”

रणवीर सिंह ने कैसे किया था खुद को तैयार

पद्मावत फिल्म की शूटिंग से पहले रणवीर ने 21 दिन पहले ही तैयारी शुरू कर दी और खुद को  तैयार करने के लिए एक घर में बंद कर दिया, जो कभी उन्होंने ‘बाजीराव मस्तानी’ की तैयारी के लिए खरीदा था. फिल्म की शूटिंग भी उतनी ही मुश्किल रही.  रणवीर के सारे सीन एक साथ लास्ट में शूट किए गये थे. ‘खली-बली’ सॉन्ग की शूटिंग के दौरान रणवीर अपने पैर महसूस नहीं कर कर पा रहे थे. पद्मावत फिल्म की शूटिंग मई के दिनों में  45 डिग्री का टेंपरेचर में हुई थी. शूटिंग के दौरान रणवीर की बॉडी पर चमड़े के कवच की चार परतें लगाई जाती थी, जिनका वजन 12 किलो के लगभग होता था. आपको बता दें कि शूटिंग के दौरान रणवीर का पसीना और खून एक साथ निकलता था. रणवीर ने एक बार अपने इंटरव्यू में ये भी बताया था कि वो ‘कट’ सुनते ही सोफे तक जाते थे और बेहोश हो जाता थे.

रणवीर सिंह ने की संजय लीला भंसाली की तारीफ

फिल्म की शूटिंग पूरी होने के बाद रणवीर ने भंसाली की तारीफ करते हुए कहा था कि उनके साथ तीन फ़िल्में करने के बाद मुझे लगता है कि मैंने 3 अलग-अलग डायरेक्टर्स के साथ काम किया हो. बता दें कि इससे पहले रणवीर ने संजय लीला भंसाली के साथ फिल्म राम लीला और बाजीराव मस्तानी में भी काम किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here